तो दोस्तों आज हम आप लोगों के साथ शेयर करने वाले हैं भरोसा शायरी इन हिंदी (Bharosa Shayari In Hindi) का बहुत सारा कलेक्शन जो कि आप लोगों को पसंद जरूर आएगा

भरोसा क्या होता है यह तो आप सब लोग जानते हैं भरोसा की कितनी ज्यादा मान्यता है मतलब कि भरोसा एक बहुत बड़ी चीज है दुनिया की क्योंकि भरोसा एक इंसान की परख कराता है।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

तो आप लोग भरोसा शायरी इन हिंदी ढूंढ रहे हो इसका मतलब यह है कि आप किसी पर बहुत भरोसा करते हो और आपका उसने भरोसा तोड़ा है या फिर आप एक भरोसा करते हो उसके लिए शायरी ढूंढ रहे हो या फिर आपका किसी ने भरोसा तोड़ा है उसके लिए शायरी ढूंढ रहे हैं तो भरोसा करो हम पर हम आपको बेहतर से बेहतर भरोसा शायरी इन हिंदी देंगे।

आप लोग कहीं सभी सर्च करके आए हो चाहे गूगल से आए हो या फिर इंस्टाग्राम से आए हो या फिर फेसबुक से आए हैं पर मेरे दोस्त आप सही जगह पर आए हैं क्योंकि यहां पर हमने आप लोगों के लिए बहुत सारी ऐसी भरोसा शायरी इन हिंदी का कलेक्शन करके रखा है उसमें से आप लोगों को कोई न कोई शायरी जरूर पसंद आ जाएगी आप जल्दी से नीचे इंस्टॉल करके जाइए और पढ़िए।

Bharosa Shayari In Hindi Images

हैं बाशिंदे इसी बस्ती के हम भी,
सो ख़ुद पर भी भरोसा क्यों करें हम।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

उसे भी धोका मिलेगा यक़ीन है मुझको,
भरोसा वो भी किसी पर तो कर रहा होगा।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

दिल को तेरी चाहत पे भरोसा भी बहुत है,
और तुझ से बिछड़ जाने का डर भी नहीं जाता।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

है दुख तो कह दो किसी पेड़ से परिंदे से,
अब आदमी का भरोसा नहीं है प्यारे कोई।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

तेरे वादे पर जिए हम तो ये जान झूट जाना,
कि ख़ुशी से मर न जाते अगर ए’तिबार होता।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

हिम्मत, ताकत, प्यार, भरोसा जो है सब इनसे ही है,
कुछ नम्बर हैं जिन पर मैंने अक्सर फोन लगाया है।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

झूट पर उस के भरोसा कर लिया,
धूप इतनी थी कि साया कर लिया।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

उम्र जितनी भी कटी उस के भरोसे पे कटी,
और अब सोचता हूँ उस का भरोसा क्या था।

शहज़ाद अहमद

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

कब भटक जाए ‘ मयूर गुलाटी’,
आदमी का कोई भरोसा नहीं।

आफ़ताब हुसैन

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

दीवारें छोटी होती थीं लेकिन पर्दा होता था,
तालों की ईजाद से पहले सिर्फ़ भरोसा होता था।

अज्ञात

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

भरोसा शायरी इन हिंदी इमेजेज

मुंह से माफ करने में किसी को वक्त नही लगता,
पर दिल से माफ करने में उम्र बीत जाती है।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

भरोसा दूसरों पर रखो तो गम दे जाता हैं,
भरोसा ख़ुद पर रखो तो ताकत बन जाता हैं।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

भरोसा करने वाले से ज्यादा बेवकूफ,
भरोसा तोड़ने वाला होता है क्योंकि,,
वह अपने छोटे से स्वार्थ के लिए ,,,
एक प्यारे इंसान को खो देता है।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

लोग कहते हैं वक्त बुरा था,
हम कहते हैं विश्वाश कम था।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

भरोसा एक ऐसी चीज है,
जिसके टूटने पर कोई आवाज तो नहीं आती
लेकिन उसकी गूंज जीवन भर सुनाई देती है।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

बहुत खामोशी से टूट गया,
वह एक भरोसा जो तुझ था।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

प्यार गहरा हो या ना हो,
पर भरोसा गहरा होना चाहिये।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

ये ना-मुमकिन है,
कोई मिल जाए तुम जैसा।
पर इतना आसान ये भी नहीं,
तुम ढूँढ लो हम जैसा।

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

ग़ज़ब किया तिरे वअ’दे पे ए’तिबार किया,
तमाम रात क़यामत का इंतिज़ार किया।
~दाग़ देहलवी

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

जब अपना दिल ख़ुद ले डूबे औरों पे सहारा कौन करे,
कश्ती पे भरोसा जब न रहा तिनकों पे भरोसा कौन करे।
~आनंद नारायण मुल्ला

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

दिल को तेरी चाहत पे भरोसा भी बहुत है,
और तुझ से बिछड़ जाने का डर भी नहीं जाता।
~अहमद फ़राज़

Bharosa Shayari In Hindi
भरोसा शायरी इन हिंदी
Bharosa Shayari In Hindi Love
Bharosa Shayari In Hindi Sad
Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi
Bharosa Shayari Dosti

Bharosa Shayari In Hindi Love

आदतन तुम ने कर दिए वादे,
आदतन हम ने ए’तिबार किया।
~गुलज़ार

ऐ मुझ को फ़रेब देने वाले,
मैं तुझ पे यक़ीन कर चुका हूँ।
~अतहर नफ़ीस

सब पर भरोसा है,
पर कुछ नहीं हासिल है।
जिस तरफ पीठ करो,
वहीं खड़ा कातिल है।

आजकल न जाने कब बदल जाए इंसान भरोसा नहीं कहते हैं,
जो भरोसा करो हम पर अक्सर भरोसा तोड़ते हैं वहीं।

भरोसा क्या करना गैरो पर,
जब खुद गिरना है चलना है,,
अपने ही पैरो पर।

इसे भी पढ़े >>>

सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनो पर भी शक करना,
मेरी फितरत में तो गैरों पर भी भरोसा करना था।

भरोसा जितना कीमती होता है,
धोखा उतना ही महँगा हो जाता है।

लोगों के पास बहुत कुछ है,
मगर मुश्किल यही है कि,,
भरोसे पे शक है और,,,
अपने शक पे भरोसा है।

बहुत ख़ामोशी से टूट गया,
वो एक भरोसा जो उस पे था।

प्यार में तो बस भरोसा होना चाहिए,
शक तो पूरी दुनिया करती हैं।

Bharosa Shayari In Hindi Sad

प्यार और भरोसा दो ऐसे पंछी हैं,
अगर इनमें से एक उड़ जाए तो,,
दूसरा अपने आप उड़ जाता है।

रिश्ते दिल टूटने पर नहीं,
भरोसा टूटने पर बिखरते है।

भरोसा कर लिया है मैंने तेरे झूठ पर भी,
तुझे खुदा जो माना है।

यूं तो हर गुनाह का कफ़ारा नहीं होता,
उठ जाए जो एक दफा भरोसा दुबारा नहीं होता।

खुद में काबिलियत हो तो भरोसा कीजिये साहिब,
सहारे कितने भी अच्छे हो साथ छोड जाते है।

भरोसा मत करना इस दुनिया के लोगो पर,
मुझे तबाह करने वाले मेरे बहुत अजीज थे।

नसीब से ज्यादा भरोसा किया था तुम पर,
नसीब इतना नहीं बदला जितना तुम बदल गये।

दुख इसका नही कि,
तुम्हारा साथ छूट गया है।
अफसोस इस बात का है,
कि हमारा भरोसा टूट गया है।

प्यार के बिना खोकला हर रिश्ता प्यार ही तो है,
जिससे कोई बेगाना भी हो जाता है अपना।

जैसे भी जी रहे है अपने हाल पर भरोसा करेगे,
सिर्फ अपने महबूब के प्यार पर।

भरोसा लफ्जो का छोटा सा है,
मगर यकीन दिलाने मे पूरी,,
जिंदगी निकल जाती है।

दिल की सरहद को तुम ​पार ना करना,
मेरे भरोसे और भरोसा को तुम बेकार न करना।

​इस मतलबी दुनिया में ​किसी पर भरोसा मत ​करना,
इश्क और धोखे में ​अपना जीवन बेकार मत करना।

दिल की धड़कन और ​मेरी सदा हो तुम,
मेरे भरोसे की आखरी वफा हो तुम।

दिल तोड़ना हमारी आदत नहीं,
दिल हम किसी का दुखाते नहीं।
भरोसा रखना मेरी वफ़ाओ पर,
दिल में बसा कर हम किसी को भुलाते नहीं।

Bharosa Shayari In Hindi For Girlfriend

बाते मोहब्बत की कभी हम भी किया करते थे,
बहुत पहले ही सही लेकिन,,
लोगो पर भरोसा हम भी किया करते थे।

लोगों पर भरोसा करने का इतना,
शौंक न रखो की खुद से भरोसा उठ जाये।

जहाँ भरोसा हो वह कसमों,
वादों की कोई जगह नहीं होती।

भरोसा बस तू खुद पर और खुदा पर,
कर फिर देख ऐसी कोई मंज़िल नहीं,,
होगी जहाँ तेरा आशियाना नहीं होगा।

हर रिश्तें में भरोसा रहने दो,
जुबान पर हर वक्त मिठास रहने दो।
यही तो अंदाज हैं जिन्दगी जीने का,
न ख़ुद रहो उदास, न दूसरों को रहने दो।

सच्ची मोहब्बत भी हम करते है,
वफ़ा भी हम करते है,भरोसा भी,,
हम करते है,और आखिर में तन्हा,,,
जीने की सजा भी हमे ही मिलती है।

भरोसा” शब्द जिसका प्रतीक सिर्फ माँ,बाप से है,
इस मतलब की दुनिया में भरोसा की,,
चाह में किसी पर भरोसा नहीं कर सकते।

में माफ़ तो हर बार करता हूँ,
लेकिन भरोसा सिर्फ एक बार करता हूँ।

ज़िन्दगी बड़ी हसीन हे उसे प्यार करो,
अभी हे रात तो सुबह का इंतजार करो।
वो पल भी आएगा जिसका इंतजार हे आपको,
बस खुदा पर भरोसा रखो और वक्त पर ऐतबार करो।

कभी भी किसी का प्यार,
और भरोसा मत खोना।
क्योकि प्यार हर किसी से नहीं होता,
और भरोसा हर किसी पे नहीं होता।

Bharosa Par Shayari In Hindi

एक में ही था जो,
तुम पर भरोसा कर बैठा।
वरना बताने वालो ने सब कुछ,
ठीक ही बताया था।

मेरी हैसियत से ज्यादा,
तूने मेरी थाली में परोसा हे।
तू लाख मुश्किलें दे ए खुदा,
मुझे तुज पर भरोसा हे।

प्यार में बस एक भरोसा होना चाहिए,
शक तो पूरी दुनिया करती हे।

दिल हमारा तोड़ दिया कोई बात नई,
गलती तुम्हारी नहीं हमारी हे।
क्योकि हमने आप पर भरोसा किया था,
आपने हम पर नहीं।

जहाँ तक मुझसे मतलब है जहाँ को,
वही तक मुझको पूछा जा रहा है।

घर से निकले तो हो सोचा भी किधर जाओगे,
हर तरफ़ तेज़ हवाएँ हैं बिखर जाओगे।

इतना आसाँ नहीं लफ़्ज़ों पे भरोसा करना,
घर की दहलीज़ पुकारेगी जिधर जाओगे।

शाम होते ही सिमट जाएँगे सारे रस्ते,
बहते दरिया से जहाँ होगे ठहर जाओगे।

हर नए शहर में कुछ रातें कड़ी होती हैं,
छत से दीवारें जुदा होंगी तो डर जाओगे।

पहले हर चीज़ नज़र आएगी बे-मा’नी सी,
और फिर अपनी ही नज़रों से उतर जाओगे।

न कोई वा’दा न कोई यक़ीं न कोई उमीद,
मगर हमें तो तिरा इंतिज़ार करना था।
Firaq Gorakhpuri

मुझे छोड़ दे मेरे हाल पर तिरा क्या भरोसा है चारागर,
ये तिरी नवाज़िश-ए-मुख़्तसर मेरा दर्द और बढ़ा न दे।
Shakeel Badayuni

आप तशरीफ़ लाए थे इक रोज़,
दूसरे रोज़ ए’तिबार हुआ।
Fehmi Badayuni

जानता हूँ, है जहाँ ये झूठ लेकिन,
मैं भरोसा तुम पे करना चाहता हूँ।

बस एक वही थी जो भरोसे वाली थी,
वरना तो ये दुनिया धोखे वाली थी।
मेरी गीता मे शामिल थी आयत भी,
इस कृष्णा की राधा बुरखे वाली थी।

Bharosa Shayari In Hindi Images Download Dp

मैं अब किसी की भी उम्मीद तोड़ सकता हूँ,
मुझे किसी पे भी अब कोई ए’तिबार नहीं।

दुनिया तो हम से हाथ मिलाने को आई थी,
हम ने ही एतिबार दोबारा नहीं किया।

भोली बातों पे तेरी दिल को यक़ीं,
पहले आता था अब नहीं आता।

या तेरे अलावा भी किसी शय की तलब है,
या अपनी मोहब्बत पे भरोसा नहीं हम को।

शहरयार

तुम सितारों के भरोसे पे न बैठे रहना,
अपनी तदबीर से तक़दीर बनाते जाओ।

सदा अम्बालवी

ज़िंदगी का भी किया भरोसा है,
ज़िंदगी की क़सम भी क्या खाऊँ।

राणा गन्नौरी

इंसान की निय्यत का भरोसा नहीं कोई,
मिलते हो तो इस बात को इम्कान में रखना।

अंजुम ख़लीक़

ख़्वाब जितने देखने हैं आज सारे देख लें,
क्या भरोसा कल कहाँ पागल हवा ले जाएगी।

आशुफ़्ता चंगेज़ी

बड़े नादान हैं वो लोग जो इस दौर,
में भी वफ़ा की उम्मीद करते हैं।
यहाँ तो दुआ क़बूल ना होने पर लोग,
भगवान बदल दिया करते हैं।

एक तेरा शहर सिर्फ पानी के लिए ख़ून बहा देता है,
एक मेरा गाँव है, पानी ना मिले तो प्यास बाँट लेता है।

Bharosa Shayari 2 Lines In Hindi

मोहब्बत क्या है चलो दो लफ्ज़ो में बताते है,
तेरा मजबूर कर देना मेरा मजबूर हो जाना।

फिर से आ जाओ बेवफाई का तीर लेकर,
मोहब्बत के जंग में मैं निहत्थे उतरा हूँ।

कुछ रूठे हुए लम्हें कुछ टूटे हुए रिश्ते,
हर कदम पर काँच बनकर जख्म देते हैं।

मिरी ज़बान के मौसम बदलते रहते हैं,
मैं आदमी हूँ मिरा ए’तिबार मत करना।
~आसिम वास्ती

उस इंसान से कभी झूठ मत बोलना,
जिसको आपके झूठ पर भी भरोसा है।

मतलब भरी इस दुनिया में,
कौन किसका होता है।
अक्शर धोखा वही लोग देते है,
जिन पर हम भरोसा करते है।

किसी को माफ़ करके,
अच्छे इंसान बन जाओ।
मगर दोबारा भरोसा करके,
बेवक़ूफ़ मत बनो।

समुंदर की लहरों पर भरोसा कर बैठे,
कल वो डुबा कर हमें किनारा कर बैठे।

अब ज़रा सा भी किसी पर भरोसा नही होता हैं,
और जब भी होता हैं दर्द बड़ा ही बेहद होता हैं।

क्यो भरोसा करू किसी और पर,
जब खुद की आखे खुद को धोखा दे।

एक बार फ़िर शक भरोसे से सबूत मांग रहा है,
हँस रही है क़िस्मत,,
फ़िर एक रिश्ता दफ़न हो रहा है।

मुझे खामोश देखकर इतना हैरान क्यों होते हो दोस्तों,
कुछ नहीं हुवा है बस भरोसा कर के धोखा खाया है।

भरोसे के बाज़ार में जिंदगी बेची थी मैंने,
तब जा के कहीं पाया हैं ये लहेजा मैंने।

जिंदगी का भरोसा नहीं कब तक साथ निभाएगी,
पर मौत पर ऐतबार है एक दिन ज़रूर आएगी।

उनका भरोसा मत करो,
जिनका ख्याल वक्त के साथ बदल जाऐ।
भरोसा उनका करो जिनका ख्याल तब भी,
वैसा ही रहे जब आपका वक्त बदल जाऐ।

Pyar Bharosa Shayari In Hindi

गिर पड़े उस पत्थर से टकरा कर ज़मीं पर हम,
भरोसे की नीव कह जिसे कभी अपनों ने रखा था।

बात भरोसे की ना कर ऐ दिल तू किसी गैर से,
मौसम से ज्यादा, इन्ही लोगों को बदलते देखा है मैंने।

मेरे दिल कि सरहद को पार न करना,
नाजुक है दिल मेरा वार न करना।
खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना।

ना रुक ना झुक, रख भरोसा बस चलता जा,
मंज़िल ना मिले तब तक बस बढ़ता जा।

रोक लो नैनों को लकीरें भी बह जाएंगीं वरना,
आज रोक लो हमें, कल का भरोसा मत करना।

अब इन लहरो पर क्या भरोसा करूं,
जब वो मेरे विपरीत ही चल रही है।
मुझे तो इन हवाओं पर भरोसा है,
जो मेरे पतवार को सहारा दे रही है।

​भरोसा उस पर करो जो,
आपकी इन बातो का ख्याल रख सके।
​हंसी के पीछे का दुख चुप रहने की,
वजह और गुस्से के पीछे का प्यार।

जिंदगी एक खेल है चलती रहेगी पर,
​कभी किसी का भरोसा मत करना।

हम समझदार भी इतने है,
के उनका झूठ पकड़ लेते है।
और उनके दिवाने भी इतने,
के फिर भी यकीन कर लेते है।

भरोसा जीतना बड़ी बात नही है,
भरोसा बनाए रखना बड़ी बात है।

खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर,
इस भरोसे को तुम बेकार न करना।

जब जब भरोसा किया है मेने,
तब तब भरोसा टूटा है मेरा।
अब तो किसी पर भरोसा करने का,
मन ही नही करता है मेरा।

भरोसा कर के तुमपे जो मैने,
तुम्हारा हाथ थाम लिया।
भरोसा भी न रहा मेरे भरोसे पे,
के तुमने मेरा साथ छोड़ दिया।

लोगो के पास बहुत कुछ है मगर,
मुश्किल यही है कि भरोसे पे शक है,,
और अपने शक पे भरोसा है।

वो झूठ बोल रहा था बड़े सलीक़े से,
मैं एतिबार न करता तो और क्या करता।

Bharosa Shayari Dosti

जो चाहे वो पा लेता है इंसान,
भरोसा मे इतना दम होता है।
जो इंसान को ईश्वर देता है,
वो कभी भी कम नही होता है।

जानकार उनको इस बात को जाना है,
हमने किस कदर पलटते हैं,,
यह खुद को दोस्त कहने वाले।

किसी पर खुद से भी ज्यादा भरोसा करना,
और उस भरोसे का टूटना तो जैसे दस्तूर हो जिंदगी का।

यह चमत्कार केवल भरोसा ही कर सकता है,
जो पत्थर को भी भगवान कर सकता है।

दिल का दर्द एक राज बनकर रह गया,
मेरा भरोसा मजाक बनकर रह गया।
दिल के सोदागरो से दिललगी कर बैठे,
शायद इसीलिए मेरा प्यार इक अल्फाज बनकर रह गया।

भरोसा दुनिया की सबसे नाज़ुक भी,
और सबसे भी, एक भावना जो एक।
बार टूट जाए फिर चाहे जितने भी,
जतन करो नहीं जुड़ती।

भरोसे जीतने में साल लगते है,
हारने में कुछ पल लगते हैं।
और दोबारा बनाने में पूरी,
ज़िन्दगी लग जाती है।

भरोसा होता है मां को भगवान पर,
तभी तो मां बनने के लिए वो अपनी,,
ज़िंदगी तक दांव पर लगा देती है।

भरोसा था भरोसा कर लिया मैंने जो तुम या,
मैं समझो वो इशारा कर दिया मैंने, किनारा।
करने वालों से किनारा कर लिया मैंने,सिर्फ,
तुम्हारा भरोसा था भरोसा कर लिया मैंने।

मित्र वह है जो आप के अतीत को समझता हो,
आप के भविष्य में भरोसा रखता हो,,
और आप जैसे है वैसे ही आप को स्वीकार करता हो।

अगर आपको खुद पर भरोसा नहीं,
होगा तो आपको हमेशा दूसरों के,,
भरोसे ही जीना पड़ेगा।

उनका भरोसा मत करों जिनकी भावनाएं,
वक्त के साथ बदल जाएँ।
भरोसा उनका करो जिनकी भावनाएं वैसी ही रहे,
जब आपका वक्त बदल जाएं।

भरोसा तो भर भर के किया था उसपर,
सच मे कुछ भी हासिल नही हूआ।
अगर भरोसा करता थोडा खुदपर,
कम से कम कुछ तो मिल जाता।

भरोसा तोड़ना बड़ा ही आसान है,
लेकिन भरोसा को बनाये रखना बड़ा ही कठिन है।
तोड़ने वाले अक्सर छोटी सोच के लोग होते है,
महान लोग किसी का भरोसा कभी नहीं तोड़ते है।

भरोसा शब्द बोलने में सेकंड लगता हे,
सोचने में मिनिट सी लगती हे।
उसे समझने में दिन लगता हे लेकिन,
साबित करने में पूरी ज़िन्दगी लग जाती हे।

Bharosa Toda Shayari In Hindi

याद ऐसे करो की कोई हद न हो,
भरोसा इतना करो की कोई शक न हो।
इंतजार इतना करो की कोई वक्त न हो,
और प्यार ऐसा करो की कोई नफ़रत न हो।

हाथ की लकीरों पर नहीं बल्कि,
लकीरे बनाने वाले पर भरोसा रखे।

फ़िक्र करते हो क्यों।
फ़िक्र से क्या होता हे।
रखो अपने खुदा पर भरोसा,
फिर देखो होता हे क्या।

कोई खुशियों के लिए रोया तो,
कोई दुखो के पनाह में रोया।
अजीब सिलसिला हे इस ज़िन्दगी का,
कोई भरोसा के लिए रोया तो,,
कोई भरोसा कर के रोया।

वक्त वक्त की बात होती हे जनाब,
जिन्दगी में कौन किसका होता हे।
अक्शर हमें धोखा वही लोग देते हे,
जिन पर हम भरोसा करते हे।

छोड़ कर जाने वाले ने हमें,
इतना तो सीखा ही दिया की,,
आने वाले पर भरोसा काफी,,,
सोच समझकर करना।

मुझे किसी के बदल जाने का,
कोई भी ग़म नहीं हे।
बस कोई अपना था जिस पर,
मुझे खुद से ज्यादा भरोसा था।

मुझे यु खामोश देखकर,
इतना हैरान क्यों होते हे।
कुछ नहीं हुआ मुझे बस,
भरोसा करके धोखा खाया हे।

वो राम का जमाना लौटेगा फिर किसी दिन,
तैरेगा फिर से जल में पत्थर पे नाम उनका।

ये यक़ीं है की मेरी उल्फ़त का,
होगा उन पर असर कभी न कभी।

तुम मिरी ज़िंदगी हो ये सच है,
ज़िंदगी का मगर भरोसा क्या।

भरोसा कौन अब किस पर करेगा और कैसे,
भरोसा तोड़ने वाला हमारा यार निकला।

समझ में ये नहीं आता यक़ीं किस पर किया जाए,
जिसे अपना समझता हूँ वो ही दिल तोड़ देता है।

हर-चंद ए’तिबार में धोके भी हैं मगर,
ये तो नहीं किसी पे भरोसा किया न जाए।

कभी ये भी नहीं पूछा है गर्दन पे निशाँ कैसा,
हमें अंधी मोहब्बत थी हमें अंधा भरोसा था।

Bharosa Shayari Rekhta

जिन लोगों पर मैं भरोसा जताता हूँ,
उन लोगों से ही धोखा खा जाता हूँ।

मैंने लोगों के चेहरे पढ़ रक्खे हैं,
फिर भी उनकी बातों में आ जाता हूँ।

किसी पे करना नहीं ए’तिबार मेरी तरह,
लुटा के बैठोगे सब्र ओ क़रार मेरी तरह।

वो कहते हैं मैं ज़िंदगानी हूँ तेरी,
ये सच है तो उन का भरोसा नहीं है।

इक तेरे आने के भरोसे पर हूँ अब तक मुस्तक़िल,
वर्ना हो जाता, आशिक़ी में, इक सबब क़ुर्बानी का।

वहम था मेरा जो तुम पर भरोसा किया,
लोगों ने तो सिर्फ दिल तोड़ा था,,
तुमने तो मेरा रूह निचोड़ दिया।

भरोसा रख मुहब्बत पर मुहब्बत रंग लाएगी,
ज़माना हार जाएगा मुहब्बत जीत जाएगी।

भरोसा तब नहीं टूटता जब कोई रूठ जाता है,
भरोसा तब टूटता है जब कोई दिल तोड़ जाता है।

आज शाम हुई कल फिर सूरज निकलेगा,
भरोसा रख अपने आप पर हर पल तू निखरेगा।

उसकी हँसी पर क्या भरोसा करना,
जो शख़्स खुलकर कभी रोया न हो।

अक्सर बुरी सीरतों की सूरतें भी हसीन हुआ करती हैं,
संभलना लोग भरोसे पर छुरी चलाते कतराते नहीं हैं।

जिंदगी की सबसे अनमोल चीज भरोसा,
जितनी आसानी से होता नहीं,,
उतनी आसानी से टूट जरूर जाता है।

जब कोई आपसे अपनी,
हर बात शेयर करने लगता है।
तो समझ जाना की वो आप पर,
खुद से ज़्यादा भरोसा करता है।

आप जिस पर आँख बंद करके भरोसा करते हैं,
अक्सर वही आप की आँखें खोल जाते है।

वो मुझ को भूल चुका अब यक़ीन है वर्ना,
वफ़ा नही तो जफ़ाओ का सिलसिला रखता।

Bharosa Shayari In English

कीमत पानी की नही प्यास की होती है,
कीमत मौत की नही साँस की होती है।
प्यार तो बहुत करते है दुनिया मे,
कीमत प्यार की नही भरोसा की होती है।

वाह ए ख़ुश फ़हमी कि पर्वाज़ ए यक़ी से भी गए,
आसमाँ छूने की ख़्वाहिश मे ज़मी से भी गए।

यूँ मुलाक़ात का ये दौर बनाए रखिए,
मौत कब साथ निभा जाए भरोसा क्या है।

जिन्हे फ़िक्र थी कल की वो रोये रात भर,
जिन्हे यकीन था रब पर वो सोये रात भर।

चाहिए ख़ुद पे यक़ीन-ए-कामिल,
हौसला किस का बढ़ाता है कोई।

भरोसा तोड़ने वाले के लिए बस यही एक सज़ा काफ़ी है,
उसको ज़िन्दगी भर के लिए ख़ामोशी तोहफ़े में दे।

जो भी छोटे मामलों में सच्चाई के साथ लापरवाह है,
उस पर महत्वपूर्ण मामलों में भरोसा नहीं किया जा सकता है।

जिंदगी के ज़हर को यूँ हँस के पी रहे हैं,
तेरे प्यार बिना यूँ ही ज़िन्दगी जी रहे हैं।
अकेलेपन से तो अब डर नहीं लगता हमें,
तेरे जाने के बाद यूँ ही तन्हा जी रहे हैं।

ज़िन्दगी में आप जो कर रहे है,
वो काम जिसमे आप को पता है।
के ये काम आप क्यों कर रहे है ये,
अगर आपके पास हे तो आप सफल है।

मालिक पर भरोसा रख अपने गमों की तू नुमाईश न कर,
अपने नसीब की यूँ आजमाईश न कर।
जो तेरा है वो खुद तेरे पे चल के आएगा,
रोज उसे पाने की ख्वाहिश न कर।

तुम्हारे इश्क़ के रंग ओढ़कर ही मैं ख़ुशनुमा हूँ,
तुम ही तो हो मुझमे मैं खुद में कहाँ हूँ।

मुश्किलों के दौर में थोड़ा संभल कर चलो,
अनुभवों से सीख लो और निखर कर चलो।
कठिनाइयाँ तो आएंगी और चली जाएंगी,
सजग होकर इसी तरह नए सफ़र पर चलो।

मत कर ए ज़िन्दगी किस पर भी,
यहां लोग अपनी भलाई के लिए,,
झूठी कसमें भी खा लेते हे।

पहचान तो हमारी आज भी,
सब लोगो से हे लेकिन,,
भरोसा सिर्फ खुद पर ही हे।

भरोसा काच की तरह होता हे,
जो एक बार टूट जाने पर कितना भी जोड़ लो,,
चहेरा अलग अलग ही दिखाई देगा।

Bharosa Shayari Status

भरोसा रखिये अपने खुदा पर,
ये बुरा वक्त भी गुजर जायेगा।
आने वाला हर एक पल आपके लिए,
ढेर सारी ख़ुशियाँ लाएगा।

किसी पर इतना भरोसा मत कीजिये की,
बाद में किसी पर भरोसा ही न रहे।

खुश रहने के लिए कभी,
खुद से भी कोशिश करनी चाहिए।
दुसरो पर भरोसा करके अक्शर,
लोगो को रोते हुए ही देखा हे।

कैसे भरोसा करू में गैरो के प्यार पर जब,
अपने ही मज़ा लेते हे, अपनो की हार पर।

अपने प्यार में भरोसा होना चाहिए क्योकि,
शक तो पूरी दुनिया करती हे।

जब किसी पर से भरोसा उठ जाये तो,
हमें कुछ फर्क नहीं पड़ता की,,
वो कसम खाये या ज़हर खाये।

मैने दिल लगाया और तुमने दिमाग लगाया,
मैने भरोसा किया और तुमने भरोसे का फायदा उठाया।

कभी – कभी खुदा हमें जान बूझकर मुश्किल में डालता हे,
ताकि हमें उन लोगो के चहेरो पर लगे,,
नकाब देख सके जिनपर हम ,,,
आंख बंधकर भरोसा करते हे।

बेशक किसी की माफ़,
बार – बार करो लेकिन,,
उन पर भरोसा सिर्फ एक बार ही करो।

ज़ख़्म दिल के भरे नहीं अब तक,
और इक दर्द फिर हरा कर लूँ।

अब भरोसा नहीं किसी का पर,
तू कहे तो यक़ीं तिरा कर लूँ।

भरोसा हमने किया है उसी पे दोबारा,
हज़ार बार जिसे आज़मा चुका था मैं।

उसे मुझ पर भरोसा तो बहुत था पर,
वो कहती रहती थी “बदनाम कर दूँगा।

आप का ए’तिबार कौन करे,
रोज़ का इंतिज़ार कौन करे।

मुझे है ए’तिबार-ए-वादा लेकिन,
तुम्हें ख़ुद ए’तिबार आए न आए।

Bharosa Tuta Shayari In Hindi

जान तुझ पर कुछ ए’तिमाद नहीं,
ज़िंदगानी का क्या भरोसा है।

जो मेरे सामने कहता है औरों को बुरा उस का,
भरोसा क्या किसी के सामने कहदे बुरा मुझको।

हम आज राह-ए-तमन्ना में जी को हार आए,
न दर्द-ओ-ग़म का भरोसा रहा न दुनिया का।


By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *